परीक्षाओं में जीव विज्ञान से पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न

** मनुष्य का हृदय कितनी बार धड़कता है ?
– 72 बार/मिनट
** मानव खोपड़ी [Human Skull] में हड्डियाँ पाई जाती है ?
– 8
** स्वस्थ्य मनुष्य की श्वसन गति कितनी होती है ?
– 16 से 18 बार
** मनुष्य की मस्तिष्क [Human Brain] का वजन कितना होता है ?
– 1350 ग्राम
** मस्तिष्क का सबसे बड़ा भाग है ?
– प्रमस्तिष्क (सेरेब्रम)
** वृक्क (किडनी) [Kidney] का वजन ?
– 150 ग्राम
** शरीर की सबसे बड़ी हड्डी [Big Bone] होती है ?
– फीमर (जाँघ में)
** मनुष्य शरीर की सबसे छोटी हड्डी होती है ?
– स्टेपीज (कान में)
** शरीर में सबसे मजबूत हड्डी ?
– जबड़े की
** शरीर की सबसे कठोर तत्व होती है ?
– एनामिल
** सामान्य मनुष्य का रक्त चाप [Blood Pressure] ?
– 120/80 मि.मी.
** मानव शरीर में जल की मात्रा पाई जाती है ?
– 65 से 80 प्रतिशत
** रक्त की मात्रा शरीर के भार का होता है ?
– 7 प्रतिशत
** मनुष्य में रक्त [Blood] की मात्रा पाई जाती है ?
– 5 से 6 लीटर
** मानव रक्त (क्षारीय) [Human Blood (Alkaline)] का PH मान होता है ?
– 7.4
** रक्त को शुद्ध करता है, वह ?
– किडनी [Kidney]
** लाल रक्त कण [Red Blood Cells] का निर्माण होता है ?
– अस्थिमज्जा में
** लाल रक्त कण का जीवन काल ?
– 120 दिन
** श्वेत रक्त कण [White Blood Cell] का जीवन काल ?
– 1 से 4 दिन
** श्वेत रक्त कण [White Blood Cell] को कहा जाता है ?
– ल्यूकोसाइट [Leukocytes]
** लाल रक्त कण [Red Blood Cells] को कहा जाता है ?
– एरिथ्रोसाइट [Erythrocytes]
** शरीर का ताप नियंत्रक होता है ?
– हाइपोथैलमस ग्रंथि [Hypothalamus Gland]
** मनुष्य [Human] की सर्वदाता रक्त समूह (Universal Donor) ?
– O
** मनुष्य की सर्वग्राही रक्त समूह (Universal Receptor) ?
– AB
** रक्तचाप [Blood Pressure] मापने की यंत्र को कहा जाता है ?
– स्फिग्मोमैनोमीटर [Sphygmomanometer]
** ‘ब्लड बैंक [Blood Bank] ‘ कहलाता है ?
– प्लीहा (Spleen)
** भोजन का पाचन प्रारंभ होता है ?
– मुख से
** पचे हुए भोजन का अवशोषण होता है ?
– छोटी आँत [Small Intestine] में
** पित (Bile) स्त्रावित होता है ?
– यकृत [Liver] द्वारा
** विटामिन ‘ए‘ [Vitamin ‘A’] संचित होता है ?
– यकृत में
** शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि [Largest Gland] ?
– यकृत (लीवर)
** सबसे छोटी ग्रंथि [Small Gland] (मास्टर ग्रंथि) ?
– पिट्यूटरी
** मनुष्य में पसलियाँ [Ribs] की संख्या होती है ?
– 12 जोड़ी
** शरीर में हड्डियों [Bones] की कुल संख्या है ?
– 206
** शरीर में मांसपेशियों [Muscles] की कुल संख्या ?
– 639
** लार [Saliva] में पाया जाने वाला एन्जाइम [Enzyme] होता है ?
– टायलिन [Taylin]
** लिंग निर्धारण कहां से होता है ?
– पुरूष क्रोमोसोम [Men Chromosomes] पर
** मनुष्य का हृदय [Human Heart] होता है ?
– चार कोष्ठीय
** शरीर में गुणसूत्रों (Chromosomes) की संख्या पाई जाती है ?
– 46
** शरीर का सबसे बड़ा अंग [Largest Organ] ?
– त्वचा
** शरीर की सबसे बड़ी कोशिका ?
– तंत्रिका तंत्र
** शरीर में अमीनों अम्ल [Amino Acids] की संख्या ?
– 22
** शरीर में प्रतिदिन मूत्र [Urine] बनता है ?
– 1.5 लीटर
** मूत्र दुर्गंध देता है, क्योंकि ?
– यूरिया [Urea] के कारण
** मानव मूत्र (अम्लीय) का PH मान है ?
– 6
** शरीर का सामान्य तापमान होता है ?
– 98.6 डिग्री फेरेनहाइट ‘या’ 37 डिग्री सेल्सियस ‘या’ 310 केल्विन

Green Revolution in India – A Brief Introduction (हरित क्रांति)

भारत में हरित क्रांन्ति का प्रारम्भ 1966-1967 में हुआ। ‘हरित क्रान्ति’ को भारत में प्रारम्भ करने का सम्मान ‘नोबेल पुरस्कार’ विजेता प्रोफ़ेसर ‘नारमन बोरलॉग’ को है। हरित क्रान्ति भारतीय कृषि में लागू की गई उस विकास विधि का परिणाम है, जो 1960 के दशक में पारम्परिक कृषि को आधुनिक तकनीकि द्वारा प्रतिस्थापित किए जाने के रूप में सामने आई। क्योंकि कृषि क्षेत्र में यह तकनीकि एकाएक आई, तेजी से इसका विकास हुआ और थोड़े ही समय में इससे इतने आश्चर्यजनक परिणाम निकले कि देश के योजनाकारों, कृषि विशेषज्ञों तथा राजनीतिज्ञों ने इस अप्रत्याशित प्रगति को ही ‘हरित क्रान्ति’ की संज्ञा प्रदान कर दी। हरित क्रान्ति की संज्ञा इसलिये भी दी गई, क्योंकि इसके फलस्वरूप भारतीय कृषि निर्वाह स्तर से ऊपर उठकर आधिक्य स्तर पर आ चुकी थी।

उपलब्धियाँ

हरित क्रान्ति के फलस्वरूप देश के कृषि क्षेत्र में महत्त्वपूर्ण प्रगति हुई। कृषि आगतों में हुए गुणात्मक सुधार के फलस्वरूप देश में कृषि उत्पादन बढ़ा है। खाद्यान्नों मे आत्मनिर्भरता आई है। व्यवसायिक कृषि को बढ़ावा मिला है। कृषकों के दृष्टिकोण में परिवर्तन हुआ है। कृषि आधिक्य में वृद्धि हुई है। हरित क्रान्ति के फलस्वरूप गेहूँ, गन्ना, मक्का तथा बाजरा आदि फ़सलों के प्रति हेक्टेअर उत्पादन एवं कुल उत्पादकता में काफ़ी वृद्धि हुई है। हरित क्रान्ति की उपलब्धियों को कृषि में तकनीकि एवं संस्थागत परिवर्तन एवं उत्पादन में हुए सुधार के रूप में निम्नवत देखा जा सकता है-

कृषि में तकनीकि एवं संस्थागत सुधार रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग

नवीन कृषि नीति के परिणामस्वरूप रासायनिक उर्वरकों के उपभोग की मात्रा में तेजी से वृद्धि हुई है। 1960-1961 में रासायनिक उर्वरकों का उपयोग प्रति हेक्टेअर दो किलोग्राम होता था, जो 2008-2009 में बढ़कर 128.6 किग्रा प्रति हेक्टेअर हो गया है। इसी प्रकार, 1960-1961 में देश में रासायनिक खादों की कुल खपत 2.92 लाख टन थी, जो बढ़कर 2008-2009 में 249.09 लाख टन हो गई।

उन्नतशील बीजों के प्रयोग में वृद्धि

देश में अधिक उपज देने वाले उन्नतशील बीजों का प्रयोग बढ़ा है तथा बीजों की नई नई किस्मों की की गई है। अभी तक अधिक उपज देने वाला कार्यक्रम गेहूँ, धान, बाजरा, मक्का व ज्वार जैसी फ़सलों पर लागू किया गया है, परन्तु गेहूँ में सबसे अधिक सफलता प्राप्त हुई है। वर्ष 2008-2009 में 1,00,000 क्विंटल प्रजनक बीज तथा 9.69 लाख क्विंटल आधार बीजों का उत्पादन हुआ तथा 190 लाख प्रमाणित बीज वितरित किये गये।

सिंचाई सुविधाओं का विकास

नई विकास विधि के अन्तर्गत देश में सिंचाई सुविधाओं का तेजी के साथ विस्तार किया गया है। 1951 में देश में कुल सिंचाई क्षमता 223 लाख हेक्टेअर थी, जो बढ़कर 2008-2009 में 1,073 लाख हेक्टेअर हो गई। देश में वर्ष 1951 में कुल संचित क्षेत्र 210 लाख हेक्टेअर था, जो बढ़कर 2008-2009 में 673 लाख हेक्टेअर हो गया।

पौध संरक्षण

नवीन कृषि विकास विधि के अन्तर्गत पौध संरक्षण पर भी ध्यान दिया जा रहा है। इसके अन्तर्गत खरपतवार एवं कीटों का नाश करने के लिये दवा छिड़कने का कार्य किया जाता है तथा टिड्डी दल पर नियन्त्रण करने का प्रयास किया जाता है। वर्तमान में समेकित कृषि प्रबन्ध के अन्तर्गत पारिस्थितिकी अनुकूल कृमि नियंत्रण कार्यक्रम लागू किया गया है।

बहुफ़सली कार्यक्रम

बहुफ़सली कार्यक्रम का उद्देश्य एक ही भूमि पर वर्ष में एक से अधिक फ़सल उगाकर उत्पादन को बढ़ाना है। अन्य शब्दों में भूमि की उर्वरता शक्ति को नष्ट किये बिना, भूमि के एक इकाई क्षेत्र से अधिकतम उत्पादन प्राप्त करना ही बहुफ़सली कार्यक्रम कहलाता है। 1966-1967 में 36 लाख हेक्टेअर भूमि में बहुफ़सली कार्यक्रम लागू किया गया। वर्तमान समय में भारत की कुल संचित भूमि के 71 प्रतिशत भाग पर यह कार्यक्रम लागू है।

आधुनिक कृषि यंत्रों का प्रयोग

नई कृषि विकास विधि एवं हरित क्रान्ति में आधुनिक कृषि उपकरणों, जैसे- ट्रैक्टर, थ्रेसर, हार्वेस्टर, बुलडोजर तथा डीजल एवं बिजली के पम्पसेटों आदि ने महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है। इस प्रकार कृषि में पशुओं तथा मानव शक्ति का प्रतिस्थापन संचालन शक्ति द्वारा किया गया है, जिससे कृषि क्षेत्र के उपयोग एवं उत्पादकता में वृद्धि हुई है।

कृषि सेवा केन्द्रों की स्थापना

कृषकों में व्यवसायिक साहस की क्षमता को विकसित करने के उद्देश्य से देश में कृषि सेवा केन्द्र स्थापित करने की योजना लागू की गई है। इस योजना में पहले व्यक्तियों को तकनीकि प्रशिक्षण दिया जाता है, फिर इनसे सेवा केंद्र स्थापित करने को कहा जाता है। इसके लिये उन्हें राष्ट्रीयकृत बैंकों से सहायता दिलाई जाती है। अब तक देश में कुल 1,314 कृषि सेवा केन्द्र स्थापितकिये जा चुके हैं।

How much on GST tax – जीएसटी टैक्स किस पर कितना

0% GST Rates Items –

गेहूं, चावल, दूसरे अनाज, आटा, मैदा, बेसन, चूड़ा, मूड़ी (मुरमुरे), खोई, ब्रेड, गुड़, दूध, दही, लस्सी, खुला पनीर, अंडे, मीट-मछली, शहद, ताजी फल-सब्जियां, प्रसाद, नमक, सेंधा/काला नमक, कुमकुम, बिंदी, सिंदूर, चूड़ियां, पान के पत्ते, स्टांप पेपर, कोर्ट के कागजात, डाक विभाग के पोस्टकार्ड/लिफाफे, किताबें, स्लेट-पेंसिल, चॉक, समाचार पत्र-पत्रिकाएं, मैप, एटलस, ग्लोब, हैंडलूम, मिट्टी के बर्तन, खेती में इस्तेमाल होने वाले औजार, बीज, बिना ब्रांड के ऑर्गेनिक खाद, सभी तरह के गर्भनिरोधक, ब्लड, सुनने की मशीन।

5% GST Rates Items –

ब्रांडेड अनाज, ब्रांडेड आटा, ब्रांडेड शहद, चीनी, चाय, कॉफी, मिठाइयां, खाद्य तेल, स्किम्ड मिल्क पाउडर, बच्चों के मिल्क फूड, रस्क, पिज्जा ब्रेड, टोस्ट ब्रेड, पेस्ट्री मिक्स, प्रोसेस्ड/फ्रोजन फल-सब्जियां, पैकिंग वाला पनीर, ड्राई फिश, न्यूजप्रिंट, ब्रोशर, लीफलेट, राशन का केरोसिन, रसोई गैस, झाडू, क्रीम, मसाले, जूस, साबूदाना, जड़ी-बूटी, लौंग, दालचीनी, जायफल, जीवन रक्षक दवाएं, स्टेंट, ब्लड वैक्सीन, हेपेटाइटिस डायग्नोसिस किट, ड्रग फॉर्मूलेशन, क्रच, व्हीलचेयर, ट्रायसाइकिल, लाइफबोट, हैंडपंप और उसके पार्ट्स, सोलर वाटर हीटर, रिन्यूएबल एनर्जी डिवाइस, ईंट, मिट्टी के टाइल्स, साइकिल-रिक्शा के टायर, कोयला, लिग्नाइट, कोक, कोल गैस, सभी ओर (अयस्क) और कंसेंट्रेट, राशन का केरोसिन, रसोई गैस।

12% GST Rates Items –

नमकीन, भुजिया, बटर ऑयल, घी, मोबाइल फोन, ड्राई फ्रूट, फ्रूट और वेजिटेबल जूस, सोया मिल्क जूस और दूध युक्त ड्रिंक्स, प्रोसेस्ड/फ्रोजन मीट-मछली, अगरबत्ती, कैंडल, आयुर्वेदिक-यूनानी-सिद्धा-होम्यो दवाएं, गॉज, बैंडेज, प्लास्टर, ऑर्थोपेडिक उपकरण, टूथ पाउडर, सिलाई मशीन और इसकी सुई, बायो गैस, एक्सरसाइज बुक, क्राफ्ट पेपर, पेपर बॉक्स, बच्चों की ड्रॉइंग और कलर बुक, प्रिंटेड कार्ड, चश्मे का लेंस, पेंसिल शार्पनर, छुरी, कॉयर मैट्रेस, एलईडी लाइट, किचन और टॉयलेट के सेरेमिक आइटम, स्टील, तांबे और एल्यूमीनियम के बर्तन, इलेक्ट्रिक वाहन, साइकिल और पार्ट्स, खेल के सामान, खिलौने वाली साइकिल, कार और स्कूटर, आर्ट वर्क, मार्बल/ग्रेनाइट ब्लॉक, छाता, वाकिंग स्टिक, फ्लाईएश की ईंटें, कंघी, पेंसिल, क्रेयॉन,अल्युमिनियम बर्तन

18% GST Rates Items –

हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट, कॉर्न फ्लेक्स, पेस्ट्री, केक, जैम-जेली, आइसक्रीम, इंस्टैंट फूड, शुगर कन्फेक्शनरी, फूड मिक्स, सॉफ्ट ड्रिंक्स कंसेंट्रेट, डायबेटिक फूड, निकोटिन गम, मिनरल वॉटर, हेयर ऑयल, साबुन, टूथपेस्ट, कॉयर मैट्रेस, कॉटन पिलो, रजिस्टर, अकाउंट बुक, नोटबुक, इरेजर, फाउंटेन पेन, नैपकिन, टिश्यू पेपर, टॉयलेट पेपर, कैमरा, स्पीकर, प्लास्टिक प्रोडक्ट, हेलमेट, कैन, पाइप, शीट, कीटनाशक, रिफ्रैक्टरी सीमेंट, बायोडीजल, प्लास्टिक के ट्यूब, पाइप और घरेलू सामान, सेरेमिक-पोर्सिलेन-चाइना से बनी घरेलू चीजें, कांच की बोतल-जार-बर्तन, स्टील के ट-बार-एंगल-ट्यूब-पाइप-नट-बोल्ट, एलपीजी स्टोव, इलेक्ट्रिक मोटर और जेनरेटर, ऑप्टिकल फाइबर, चश्मे का फ्रेम, गॉगल्स, विकलांगों की कार,अल्युमिनियम स्क्रैप

28% GST Rates Items –

कस्टर्ड पाउडर, इंस्टैंट कॉफी, चॉकलेट, परफ्यूम, शैंपू, ब्यूटी या मेकअप के सामान, डियोड्रेंट, हेयर डाइ/क्रीम, पाउडर, स्किन केयर प्रोडक्ट, सनस्क्रीन लोशन, मैनिक्योर/पैडीक्योर प्रोडक्ट, शेविंग क्रीम, रेजर, आफ्टरशेव, लिक्विड सोप, डिटरजेंट, एल्युमीनियम फ्वायल, टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन, वैक्यूम क्लीनर, डिश वाशर, इलेक्ट्रिक हीटर, इलेक्ट्रिक हॉट प्लेट, प्रिंटर, फोटो कॉपी और फैक्स मशीन, लेदर प्रोडक्ट, विग, घड़ियां, वीडियो गेम कंसोल, सीमेंट, पेंट-वार्निश, पुट्टी, प्लाई बोर्ड, मार्बल/ग्रेनाइट (ब्लॉक नहीं), प्लास्टर, माइका, स्टील पाइप, टाइल्स और सेरामिक्स प्रोडक्ट, प्लास्टिक की फ्लोर कवरिंग और बाथ फिटिंग्स, कार-बस-ट्रक के ट्यूब-टायर, लैंप, लाइट फिटिंग्स, एल्युमिनियम के डोर-विंडो फ्रेम, इनसुलेटेड वायर-केबल।